गांव की पड़ोसन भाभी का दिल दरिया और गांड समुन्दर

गांव की पड़ोसन भाभी का दिल दरिया और गांड समुन्दर

हेल्लो दोस्तों यह मेरी पहली कहानी है, मैं बेंगलुरु में एक स्टूडेंट हूं. मेरी हाईट फुट ० इंच है. मेरी बॉडी एथलेटिक टाइप है, यह बात तब की है जब मैं १८ साल का था. मेरे बोर्ड के एग्जाम खत्म हुए थे और मैं हॉलीडे मनाने के अपने विलेज गया हुआ था. मैं वहां बहुत बोर होता था, विलेज में हमारे घर पर टीवी भी नहीं था तो मैं टीवी  देखने अपनी भाभी के घर जाया करता था, मेरी भाभी जो की पड़ोसन थी बहुत सुंदर थी, उसके बूब्स एकदम दूध की तरह थे उनकी चूची तो क्या बताऊ? बिल्कुल फुटबॉल की तरह गोल और बड़े थे.

मैं तो पहली नजर में उनका दीवाना हो गया था, असल में उनके परिवार वालों ने उनकी शादी एक साउथ इंडियन से करा दी थी, भाभी का अपनी शादी के पहले एक बॉयफ्रेंड भी था लेकिन भाभी के घरवाले गरिब थे, और जब भैया ने भाभी के घरवालों से भाभी का हाथ मांगा तो वह मना ना कर पाए. भाभी भी कुछ नहीं बोली क्योंकि उनके बॉयफ्रेंड के पास इतनी हिम्मत नहीं हुई कि वह भाभी के घर वालों से रिश्ते की बात करें, में अब भाभी के साथ बहुत क्लोज हो गया था, भाभी का पूरा बचपन चंडीगढ़ में बिता था, जिस से लड़कों के साथ काफी कम्फर्टेबल थी. विलेज की लाइफ उन्हें नहीं करती थी लेकिन उनके हस्बैंड के जॉब के कारण उन्हे यहां रहना पड़ता था मेरे वहा जाने से उन्हें भी अच्छा लगता था, उनके हस्बैंड काम के सिलसिले में एक महीने के टूर पर गए थे, भाभी अकेले बोर ना हो इसीलिए मैं सुबह से शाम तक उन के पास रहता था और रात होने पर अपने घर चला जाता था. हम दोनों अकेले में बैठकर बातें करते और वह अपनी कॉलेज की कहानियां सुनाया करती थी. एक दिन की बात हे शाम को बहुत तेज बारिश शुरु हो गई.

बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही थी, देखते ही देखते रात हो गई, मैं अपने घर पर कोल किया तो दीदी ने कहा की बेटा आज भाभी के घर रुक जा, वैसे भी यह लाइट नहीं है, वहां पर तुझे नींद भी आ जाएगी और तेरी भाभी को डर भी नहीं लगेगा, मैं मान गया. मैं फोन कर के जब भाभी के पास गया तो देखा भाभी पूरी भीगी हुई मेरे सामने खड़ी थी. मैंने पूछा आप गीली कैसे हो गई भाभी? तो उन्होंने कहा की मेने छत पर कपड़े सुखाये थे, मैं भूल गई थी, वह लेने के लिए गयी थी और में भीग गयी. इतने में जोर से बिजली कड़कने की आवाज आई और भाभी मेरे सीने से लग गई. उनके बूब्स मेरे सीने से टच हो रहे थे और मेरा लंड खड़ा हो गया था. मैंने घबराहट के कारण उन को दूर कर दिया.

अब बारिश की सर्दी में उन की बॉडी की गर्मी ने मेरा दिमाग खराब कर दिया. मैंने उन को दूसरी नजरों से देखने लगा था. बाहर बारिश हो रही थी और अंदर हम दोनों टीवी देखते हुए डिनर कर रहे थे. हम लोग एक रियलिटी शो देख रहे थे. जिसमें कपल का शो था. इतने में भाभी रोने लगी मैंने पूछा भाभी क्या हुआ आपको? आप रो क्यों रही है? तो उन्होंने कुछ नहीं बोला.

मैं उनके पास गया था वह मेरे कंधे पर सर रखकर रोने लगी. मैंने भी उन्हें अपने सीने से लगा लिया और पूछने लगा क्या हुआ? तब उन्होंने मुझे बताया कि उनका भी एक बॉयफ्रेंड था जिस से कि वह बहुत प्यार करती थी. शादी के बाद उनसे कोई कोंटेक्ट नहीं रहा. उन्होंने बताया कि उनके हस्बैंड उन से थोड़ा भी प्यार नहीं करते और हमेशा बाहर रहते हैं और शहर जाकर रंडियों को चोदते हैं.

मैं उनके मुंह से यह सब सुनकर हैरान था. मुझे अपने कानों पर यकीन नहीं हो रहा था. मैंने भाभी से बोला आप यह सब मुझे क्यों सुना रही है? तो वह बोली कि तुम समज़े नहीं? तुम्हारे भैया मुझे खुश नहीं रखते तुम तो मेरे सबसे अच्छे दोस्त हो, तुम मुझे ख़ुशी दोगे?

मैंने कहा मैं कुछ समझा नहीं. उस ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने बूब्स पर रख दिया और बोली क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगे? मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि मेरे साथ यह सब हो रहा है. मैंने बिना एक सेकंड गवाए भाभी को किस करने लगा. हमने बिना रुके १० मिनट तक किस किया और फिर मैं उन्हें उठाकर बेडरूम में ले गया.

वहा पर मैंने उन्हें बेड पर लेटा दिया और धीरे धीरे उन के कपड़े निकालने शुरू किया पहले उनका ब्लाउज फिर साडी, उन्होंने शर्म से अपनी आंखें बंद कर दी थी. फिर मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और उनसे ब्लोजोब देने को कहा. उस ने कहा मैंने कभी यह नहीं नहीं किया तो मैंने बोला कुछ नहीं होता कभी ना कभी हर चीज की शुरुआत होती है.

उन्होंने १० मिनट तक मुझे ब्लॉजॉब दिया और मैंने उनके चेहरे पर अपना सारा ज्यूस गिरा दिया. फिर मैंने उनकी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी और उन की चूत चाटने लगा उन्होंने कहा यह क्या कर रहे हो? मैंने बोला आप बस मजा लीजिए भाभी, ऐसा कहकर में उनकी चूत चाटने लगा वह पागल होने लगी थी.

उन्होंने पहले कभी यह नहीं करवाया था. वह बहुत जोर जोर से आज्ज उह्ह औऊ ईई ईई इएसस बेबी फक मी आह्ह यस्स येस्स एस्य्य इह हां ययय कर रही थी और मुझे सहला रही थी. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था. मैंने पूछा आपके घर में कंडोम कहा है तो उस ने बताया कि नहीं हे. मैंने बोला फिर क्या करें? उन्हों ने बोला ऐसे ही कर डालो. देसी पोर्न स्टोरी डॉट कॉम मैंने धीरे से अपना लंड उनकी गोरी चूत में डालना शुरू किया. पहले तो उन्हें थोड़ा दर्द हुआ लेकिन बाद में अच्छा लगा वह उछल उछल कर चुदवा रही थी. ऐसा लग रहा था कि कोई पोर्न स्टार है. वह बार बार आओ ह्ह्ह ओओं ओएइस्स औएस स अह्ह्ह फक मी बेबी आय्य्स स ऊद्द इदी ईई ओग अऊ हह उह अम्म ओह ऊओं एस उऔउस स्सुसू बोल रही थी मैंने पूछा भाभी लगता है आपने बहुत ब्लू फिल्म देखी है? उस ने कहा की कॉलेज में काफी सारी देखी थी.

फिर में उन्हें डॉगी पोजीशन में चोदने लगा. हम लोगों ने उस रात चार बार सेक्स किया और फिर रोज एक महीने तक हमेशा हर वक्त हर पोजीशन में सेक्स किया. आज भी जब मैं अपने विलेज आता हूं तो मैं और भाभी ऐसे ही मजे करते हैं.

ages/pidgets/pinit_fg_en_rect_red_28.png"/>

#गव #क #पड़सन #भभ #क #दल #दरय #और #गड #समनदर

गांव की पड़ोसन भाभी का दिल दरिया और गांड समुन्दर

Return back to Adult sex stories, hindi Sex Stories, Indian sex stories, Popular Sex Stories, Top Collection, रिश्तों में चुदाई, हिंदी सेक्स स्टोरी

Return back to Home

Leave a Reply