आखिर मैं तेरा दर्द समझता हूँ

आखिर मैं तेरा दर्द समझता हूँ

हाय फ्रेंड्स, गुड मोर्निंग ! कैसे हैं आप सब ? मैं आशा करता हूँ कि आप सब अच्छे होंगे | आज सन्डे है और मैं अभी फ्री हूँ तो सोचा कि बोर हो रहा हूँ तो अपनी एक असल जिन्दगी की कहानी ही लिख दूं | मेरा नाम सौरभ है और मैं पनागर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 28 साल है और मैं अभी जॉब करता हूँ | मैं दिखने में काला हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मेरा बदन गठीला है | मैं इस साईट का रोजाना पाठक हूँ और मुझे इस साईट पर कहानियां पढ़ते हुए समय बीताना अच्छा लगता है | फ्रेंड्स आज जो मैं आप लोगो के लिए कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | मैं आशा करता हूँ कि आप सब को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी | आज संडे का दिन है और मेरी छुट्टी है इसलिए आराम से कहानी लिख कर पोस्ट करूँगा | अब मैं अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना तब की है जब मैं कॉलेज में पढता था | मेरे घर में मेरे मम्मी पापा और मैं रहता हूँ | मेरे पापा सरकारी नौकरी करते हैं और मम्मी पोस्ट ऑफिस में जॉब करती हैं | मैं दिन भर घर में अकेले रहता था बस सुबह का समय कट जाता था क्यूंकि वो समय स्कूल में बीत जाता था और जब मैं घर जाता तो बोर होता रहता था | एक दिन की बात है मैंने ब्लू फिल्म सर्च किया तो उसमे कई सारी साईट खुली | फिर मैंने एक लिंक पर क्लिक किया जिसमे बहुत सारे क्लिप्स थे और मैंने देखा की एक लड़का दूसरे लड़के का लंड चूस रहा था और दूसरी वाली क्लिप में एक लड़का दूसरे लड़के की गांड मार रहा था | ये सब देख कर मैं जोश में आ गया और मुट्ठ मारने लगा | तब से मेरा यही काम हो गया था रोज स्कूल से घर आने के बाद मैंने गे वाली ब्लू फिल्म देख कर मुट्ठ मारा करता था | फिर जब मैं कॉलेज में गया तब बस एक साल के लिए मैंने मुट्ठ मारना छोड़ दिया था लेकिन दूसरे साल से फिर से मुट्ठ मारने लगा था |

एक दिन की बात है मेरे घर के बगल में रहने वाला लड़का जिसका नाम महेश है वो मेरा बहुत ही अच्छा और पुराना दोस्त है | मुझे पता था कि वो गे है क्यूंकि उसने मुझे ये बात बहुत पहले बताई थी लेकिन मैंने हलके में लिया था | वो घर के ही पास में रहने वाले एक लड़के को बहुत पसंद करता था और उसके साथ सेक्स करना चाहता था | मैंने उसे कई बार समझाया कि वो हमारे जैसा नहीं है लेकिन वो उसके प्यार में डूबता ही चला जा रहा था | फिर महेश ने एक दिन मुझसे फ़ोन कहा कि मैंने उस लड़के को प्रोपोस किया लेकिन साले ने मेरा दिल तोड़ दिया | मैंने उससे पुछा कि तू अभी कहाँ है ? तो उसने जवाब दिया कि मैं तेरे पास ही आ रहा हूँ | मैंने कहा चल ठीक है और जल्दी आ | मैं इन्तेजार कर रहा था पर वो आ ही नहीं रहा था और मेरे मोबाइल में बैलेंस भी नहीं था कि उसे कॉल कर पता कर सकूँ | फिर मेरे घर की डोर बेल बजी | मैंने दरवाजा खोला तो महेश ही था |

Hot Story >>  These Are The Kind Of Friends I Want

मैंने उसे अन्दर बुलाया तो वो मेरे पास आ कर मुझसे लिपट कर रोने लगा और कहने लगा कि मेरा दर्द कोई नहीं समझ सकता | मैंने उससे कहा कि नहीं दोस्त ऐसा नहीं है | मैं बहुत अच्छे से तेरा दर्द समझ सकता हूँ क्यूंकि जो तेरे अन्दर की बात है वो मैं जानता हूँ | फिर उसने अपने आँसू पोछे और कहा कि सच में तू समझ सकता है | मैंने कहा हाँ | फिर कुछ देर तक हम दोनों एक दूसरे की आँखों में देखते रहे और फिर धीरे से हम दोनों ने अपने अपने होंठ को करीब लाया और फिर एक दूसरे के होंठ से होंठ मिला कर किस करने लगे | मैं उसके होंठ को चूसने लगा और वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके बाल को सहला रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे लंड को जीन्स के ऊपर से ही मसल रहा था | हम दोनों ने 10 मिनट तक किस किया और फिर उसके बाद मैं उसकी शर्ट को उतारने लगा और वो मेरी शर्ट को उतारने लगा |

मैं बनियान नहीं पहनता और वो पहनता था तो मैंने उसकी बनियान को भी उतार दी और हम दोनों एक दूसरे के सीने पर हाँथ से फिराने लगे | मुझे बहुत ही प्यारा एहसास लग रहा था और मैं सोच रहा था कि जैसा मुझे लग रहा है शायद उसको भी वैसा ही लग रहा होगा | उसके बाद मैं उसके सीने को सहलाते हुए चूमने लगा और उसने अपने जीन्स को उतार दिया और अब मेरे सामने सिर्फ अंडरवियर में आ गया | उसके बाद मैंने झुक कर उसकी अंडरवियर को उतारकर उसको नंगा कर दिया और उसके लंड को हिलाने लगा | जब उसका लंड खड़ा हो गया तो मैं उसे जीभ से चाटने लगा तो उसके मुँह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगा | मैं उसके लंड को चाटते हुए उसके गोलों को भी सहला रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके बाद मैं उसके गोलों को भी चूसने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह पर अपने लंड को पटकने लगा | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में लिया और चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बाल को सहलाने लगा |

Hot Story >>  चाची की चुदाई अँधेरे में

मैं उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह को चोद रहा था | मैंने उसके लंड को 15 मिनट तक चूसा | फिर मैंने अपने जीन्स को उतारा और अंडरवियर को भी, तो वो मेरा लंड देख कर खुश हो गया और मेरे लंड को हाँथ में ले कर सहलाने लगा | उसके बाद वो मेरे लंड पर अपनी जीभ फेरने लगा तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड को ऐसे चाट रहा था जैसे कोई चाटने की चीज़ हो और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रहा था | उसके बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह में घुसेड लिया और चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा |

वो मेरे लंड को जोर जोर से चूस रहा था और वो भी गले तक उतार कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए लंड चुसाई के मजे ले रहा था | कुछ देर के बाद मैंने उसे औंधा दिया और उसकी गांड पर तेल लगाया और अपने लंड पर भी | फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया और चोदने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगा | फिर मैंने अपनी चुदाई तेज कर दी और जोर जोर से उसकी कमर पकड़ कर चोदने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे गोलों को नीचे हाँथ कर के सहलाने लगा | कुछ मिनट बाद मैंने उसकी गांड में ही अपना वीर्य छोड़ दिया | उसकी बारी थी तो उसने भी मेरी गांड में तेल लगाया और अपने लंड में भी और मेरी गांड के अन्दर ठूस दिया और चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए और अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवा रहा था | वो जोर जोर से मेरी गांड मार रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | कुछ देर के बाद उसने अपना माल मेरी गांड के उपर ही छोड़ दिया |

Hot Story >>  तीन चुम्बन-2 - Antarvasna

#आखर #म #तर #दरद #समझत #ह

आखिर मैं तेरा दर्द समझता हूँ

Leave a Comment

Open chat
Secret Call Boy service
Call boy friendship ❤
Hello
Here we provide Secret Call Boys Service & Friendship Service ❤
Only For Females & ©couples 😍
Feel free to contact us🔥
Do Whatsapp Now